Home Uncategorized उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग ने 426 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की

उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग ने 426 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की

183
0

राजसत्ता न्यूज़ ब्यूरो

देहरादून: कोरोना लॉकडाउन के बीच बुधवार को उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के उन 385 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं जिनका चयन हो गया था, लेकिन उन्होंने ज्वाइन करने से इंकार कर दिया था, या ड्यूटी पर आने से आनाकानी कर रहे थे । ये सभी डॉक्‍टर 2010 के बाद से कहीं न कही गायब थे। शासन ने इस संबंध में सेवा समाप्ति के आदेश भी जारी कर दिए हैं। इसके अलावा ऐसे 41 डाक्टरों को जिन्होंने प्रोबेशन का समय पूरा नहीं किया उनकी भी सेवा समाप्त कर दी गई है।

उत्तराखंड में शुरू से ही डॉक्टरों का आभाव रहा है , जिस कारण कभी भी इसे पूरा नहीं किया जा सका , सरकार चाहे किसी की भी रही हो। हर सरकार ने इस सपने को देखा कि किसी भी तरह से डॉक्टरों को पहाड़ ले जाया जाए , लेकिन सभी के सपने ,सपने ही रह गए । उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग में 385 ऐसे डॉक्टर थे जिन्होंने नियुक्ति पत्र मिलने के बाद भी नौकरी ज्वाइन नहीं की , स्वास्थ्य विभाग ने इन पदों को रिक्त तो घोषित कर दिया था , लेकिन विभाग की सूची से इनका नाम नहीं हटा था । जाँच में कुछ डॉक्टर ऐसे मिले हैं , जिन्होंने विभाग में ज्वाइनिंग तो दी लेकिन कुछ दिनों तक काम करने के बाद वे गायब हो गए।

सरकार ने हाल ही में उत्तराखंड मेडिकल सर्विस सलेक्शन बोर्ड के जरिये 637 डॉक्टरों का साक्षात्कार लिया था , जिसमें से 201 रेग्युलर डॉक्टरों को 31 मार्च 2020 को ज्वाइन करने के आदेश जारी कर दिए हैं। लॉकडाउन के चलते डॉक्टरों को दिक्कत न हो इसके लिए भी व्यवस्था की गई हैं ।

LEAVE A REPLY