Home Uncategorized चीन सीमा तक पंहुचा भारत , धारचूला-लिपूलेख मार्ग खुला,

चीन सीमा तक पंहुचा भारत , धारचूला-लिपूलेख मार्ग खुला,

261
0

राजसत्ता न्यूज़ ब्यूरो

मार्ग के खुल जाने से कैलाश मानसरोवर यात्रा होगी आसान

नई दिल्ली : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज एक ट्वीट किया हैं जिसमें उन्होंने कहा हैं ”मानसरोवर यात्रा के लिए आज लिंक रोड का उद्घाटन करके खुशी हुई। बीआरओ ने धारचूला से लिपूलेख (चीन बॉर्डर) को जोड़ने की उपलब्धि हासिल की है, इसे कैलाश मानसरोवर यात्रा रूट के नाम से जाना जाता है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वाहनों के एक जत्थे को पिथौरागढ़ से गुंजी के लिए रवाना किया।”शनिवार से इस मार्ग पर सेना और अर्द्ध सैनिक बलों की गाड़ियों को संचालन की अनुमति होगी। आम लोगों के वाहनों को कुछ दिनों बाद अनुमति दी जा सकती है।

Rajnath Singh

@rajnathsingh
Delighted to inaugurate the Link Road to Mansarovar Yatra today. The BRO achieved road connectivity from Dharchula to Lipulekh (China Border) known as Kailash-Mansarovar Yatra Route. Also flagged off a convoy of vehicles from Pithoragarh to Gunji through video conferencing.

बीआरओ के बधाई देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि संगठन ने पिछले कुछ सालों में सीमांत इलाकों को जोड़ने का बेहतरीन काम किया है। इस नए रास्ते के खुल जाने से कैसलश मानसरोवर यात्रा पहले के मुकाबले काफी सुगम हो जाएगी । धारचूला-लिपूलेख रोड का निर्माण सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने किया है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज इस मार्ग का उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया है। बीआरओ ने 80 किलोमीटर की इस सड़क से धारचूला को लिपुलेख से जोड़ा है। जानकारी देने वाले एक अधिकारी ने कहा, ”लिपूलेख रूट 90 किलोमीटर का ऊंचाई वाला ट्रैक था। अधिक उम्र के यात्रियों को यहां बहुत मुश्किल होती थी।

LEAVE A REPLY