Home consuming liquor in Dehradun देहरादून में जहरीली शराब से हुई 6 मौतों का जिम्मेवार कौन ?

देहरादून में जहरीली शराब से हुई 6 मौतों का जिम्मेवार कौन ?

211
0

देहरादून : प्रदेश की राजधानी में आखिर हो क्या रहा हैं ? मुखिया के नाक के नीचे देहरादून में जहरीली शराब पीने से देहरादून में छह लोगों की मौत हो गई है और चार गंभीर हालात में जीवन और मौत से जूझ रहे हैं। मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। मृतकों के नाम राजेंद्र (45 साल) पुत्र प्यारे लाल आकाश (22) पुत्र किशन, सुरेंद्र (38 ) पुत्र अशोक चौहान, इंदर, गुड्डु (35 ) पुत्र नत्थू, और शरन पुत्र सुखलाल सभी निवासी पथरिया पीर देहरादून हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जिनके पास खुद आबकारी बिभाग भी हैं ने मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और तीन आबकारी अधिकारियों को भी निलंबित कर दिया है।

आज से ठीक सात महीने पहले भी प्रदेश के रुड़की और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में भी जहरीली शराब पीने से 42 लोगों की मौत हो गई थी । तब भी जांच की गई थी , लेकिन नतीजा कुछ नहीं, रिपोर्ट बस्ते मे पैक । क्योँकि शराब है ही ऐसे चीज , रात गई बात गई ।
जहरीली शराब पीने से मरने वाले लोगों के गुस्साए परिजनों ने मसूरी विधायक गणेश जोशी के आवास घेराव किया और जमकर हंगामा काटा। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया हैं कि बाहरी तत्वों द्वारा इलाके में अवैध शराब सप्लाई की जा रही हैं । घटना के बाद जिला प्रशासन , पुलिस के तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

देशी शराब ही ख़राब ?

शुरुआती जांच से पता चला है कि शराब देसी शराब ठेके से ली गयी थी ।आबकारी आयुक्त सुशील कुमार ने बताया है कि शराब से हुई मौतों पर जिला आबकारी अधिकारी से रिपोर्ट मांगी गई हैं । तथा तत्काल संबंधित बैच नंबर की शराब पर बिक्री बंद रखने के आदेश दिए हैं। राजधानी देहरादून के कई देसी शराब के ठेकों पर बिक्री रोक दी गई है। मामले में व्यापक जांच के आदेश भी कर दिए हैं।

आखिर चल क्या रहा है उत्तराखंड में शराब के नाम पर

इससे पहले मार्च 2019 में टिहरी के एक गांव में शराब पीने से दो लोगों की मौत हो गई थी। उससे पहले हरिद्वार जनपद में जहरीली शराब से 42 लोगों की मौत हो गई थी। तब कच्ची शराब में मिथेनॉल के मिश्रण होने की पुष्टि हुई थी।

LEAVE A REPLY