Home Uncategorized धोखेबाज चीन की कुटिलता का जवाब नहीं , कोरोना के बाद अब...

धोखेबाज चीन की कुटिलता का जवाब नहीं , कोरोना के बाद अब बेच रहा है नकली माल

175
0

धोखेबाज चीन की कुटिल हरकत,भारत सहित दुनिया के कई देशो से कर चुका हैं धोखा

पहले भारत को 1 लाख पचास हजार पीपीई किट दान के नाम पर धोखेबाजी की,और अब खरीदी गई घटिया रैपिड एंटी-बॉडी टेस्टिंग किट्स के नतीजे भी गलत आ रहे हैं।

राजसत्ता न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली : चीन ने पहले तो दुनिया भर में कोरोना वायरस की महामारी फैलाई , और जब उससे भी उसका उसका पेट नहीं भरा तो दुनियाभर में कोरोना से बचने के लिए पीपीई किट बॉटनी शुरू कर दी ,जो की घटिया दर्जे की थी ।भारत में इसका पहला उदाहरण अप्रैल के शुरुवात में देखने को मिला, जब भारत में चीन से करीब 1.50 हजार पीपीई किटो की सप्लाई आई, जिसमें से 50,000 किट क्वॉलिटी टेस्ट में खरे नहीं उतरी । इन घटिया पीपीई किट्स के इस्तेमाल से डॉक्टरों, नर्सों, मेडिकल स्टाफ और कोरोना वॉरियर्स के खुद संक्रमित होने का खतरा जताया , जिसके बाद इनका स्तेमाल रोक दिया गया।

इसके बाद भी न जाने भारत सरकार को क्या सूझी और उसने आनन् फानन में उसी गद्दार से 6.5 लाख रैपिड एंटी-बॉडी टेस्टिंग किट्स खरीदने का फैसला कर लिया , पिछले सप्ताह से भारत को इनकी सप्लाई भी शुरू हो गई हैं ,लेकिन इनकी विश्वसनीयता भी एक बार सवालों के घेरे में हैं ।भारत के कई राज्यों ने इसकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े कर दिए हैं , सबसे पहले राजस्थान सरकार ने रैपिड टेस्टिंग पर रोक लगा दी , जिसके बाद अन्य कई राज्यों ने भी इस बात की शिकायत की है, कि इसके नतीजों में 6 फीसदी से 71 फीसदी का उतार-चढ़ाव दिख रहा है। इसके बाद इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने दो दिनों के लिए रैपिड टेस्ट पर रोक लगा दी है। अब दो दिन के बाद ही पता चल पायगे के रैपिड टेस्ट होंगे या नहीं , सवाल हैं आखिर चीन कब तक दुनिया को धोखा देता रहेगा । देश के जिन जिन राज्यों में ये किट भेजी गई हैं वहां वहां इनका रैपिड टेस्टिंग दो दिन के लिए रोक दी गई हैं ।

चीन ने भारत ही नहीं विश्व के लगभग हर उस देश को ठगा हैं जिसने उससे कोरोना से लड़ने के लाये सामना मंगवाया । चीन अब घटिया मेडिकल सप्लाई जरिए दुनियाभर में लाखों-करोड़ों जिंदगियों के साथ खिलवाड़ की घिनौनी हरकत कर रहा है।

अपने पक्के दोस्त पाकिस्तान के लिए तो चीन ने महिलाओं के अंडर गारमेंट्स से बने मास्क की सप्लाई कर दी थी ।नया नवेला दोस्त नेपाल भी उसकी इस करतूत को देख चुका हैं उसे भी चीन ने टेस्टिंग किट व पीपीई किट में भारत जैसा ही धोखा दिया , जिसके बाद उसने पूरी डील ही कैंसिल कर दी ।इटली के साथ भी उसने वही किया जो भारत और नेपाल के साथ किया , इटली ने भी उसके इस धोखे को समय पर पहचान लिया ।चीन की कुटिलता यही नहीं रुकी उसने तुर्की , चेक रिपब्लिक ,स्पेन, जॉर्जिया, ऑस्ट्रेलिया , नीदरलैंड्स को भी घटिया किस्म के मास्क और पीपीई किट भेजी जिन्हें वहां की सरकारों ने रिजेक्ट कर दिया ।

LEAVE A REPLY