Home BRAVERY AWARDS 2019 राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए 12 राज्यों के 22 बच्चे चुने गए,उत्तराखंड...

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए 12 राज्यों के 22 बच्चे चुने गए,उत्तराखंड की राखी को मार्कंडेय अवार्ड

184
0

उत्तराखंड की राखी को मार्कंडेय अवार्ड मिला है।

नई दिल्ली. राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार 2019 की घोषणा मंगलवार शाम को कर दी गई इसके लिए 12 राज्यों के 22 बच्चों का चयन किया गया। इनमें 12 लड़के और 10 लड़कियां शामिल हैं। एक बच्चे को मरणोपरांत यह पुरस्कार दिया जाएगा। केरल के 15 वर्षीय आदित्य कुमार को भारत अवॉर्ड दिया जाएगा। आदित्य ने बस में सफर के दौरान 40 लोगों की जान बचाई थी।

आदित्य ने बताया- मैं बस में 40 लोगों के साथ था। मैंने पाया कि बस में डीजल की गंध आ रही थी। कुछ ही देर में बस ने डोना हिल (नेपाल) में आग पकड़ ली थी। यह भारत से 50 किमी दूर है। मैंने खिड़की तोड़ने के लिए हथौड़ा फेंका। धमाका होने के पहले ही हम लोग बस से बाहर निकल गए। यात्रा के दौरान बस में डीजल की गंध आने पर आदित्य ने खिड़कियों के कांच तोड़कर 40 लोगों को बाहर निकलने में मदद की थी। इसके तुरंत बाद ही बस ने आग पकड़ ली थी।

विशेष पुरस्कार पाने वाले बच्चों के नाम

आईसीसीडब्ल्यू मार्कंडेय अवॉर्ड, उत्तराखंड की राखी (10) को दिया जाएगा। उसने अपने 4 साल के भाई को तेंदुए से बचाया था। इस दौरान राखी को भी चोटें आई थीं।
आईसीसीडब्ल्यू ध्रुव अवॉर्ड, ओडिशा की पूर्णिमा गिरि (16) और सबिता गिरि (15) को दिया जाएगा। बोट के मगरमच्छों से भरी नदी में गिरने पर दोनों ने 12 लोगों को डूबने से बचाया था।

आईसीसीडब्ल्यू अभिमन्यु अवॉर्ड, मोहम्मद मुशीन को मरणोपरांत दिया जाएगा। उसने अपने तीन दोस्तों को उग्र समुद्र में बचाया था, हालांकि इस दौरान मुशीन की मौत हो गई थी।
आईसीसीडब्ल्यू प्रह्लाद अवॉर्ड, एस. बदरा (10) को दिया जाएगा। उसने ट्रेन दुर्घटना में दायां पैर गंवाने वाली अपनी दोस्त की मदद की थी। उसके साहस के बूते उसकी दोस्त की जिंदगी बच पाई थी।
आईसीसीडब्ल्यू श्रवण अवॉर्ड, जम्मू-कश्मीर के सरताज एम. मुगल को दिया जाएगा। उसने अपने माता-पिता और बहन की जान बचाई थी। हमले के दौरान इनका घर ढह गया था।

LEAVE A REPLY