Home 6 YOUTH TRAP IN SRILANKA श्रीलंका में फसें उत्तराखंड के युवाओं को स्वदेश वापसी के लिए गढ़वाल...

श्रीलंका में फसें उत्तराखंड के युवाओं को स्वदेश वापसी के लिए गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने लिखा विदेश मंत्री को पत्र

191
0

दिलबर सिंह बिष्ट

रुद्रप्रयाग : विदेश जाकर खूब रुपये कमाने की ललक उत्तराखंड के युवकों को महँगी पड़ी । बिना जांच पड़ताल के ये लोग श्रीलंका चले गए जहाँ इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया । बर्ष 2018 मे उतराखंड प्रदेश के 6 युवक जिसमे से मनोज सिह,ग्राम लिस्वाल्टा बांगर, रामलाल सिरवाड़ी बांगर, सोहन सिंह पंवार गेंठाणा, सुभाष सिह भटवाड़ी सिलगढ बिकासखंड जखोली के रहने वाले है इनके अलावा कुलदीप प्रसाद
पुरवाल गांव हिंदाऊ,सुन्दर सिह ग्राम देवट घुतू भिंलग टिहरी गढवाल के रहने वाले हैं।

ये युवक दिल्ली व मुम्बई के होटलो मे कार्य करने वाले दलालों के संपर्क में आ गए जिन्होंने उन्हें श्रीलंका मे नौकरी दिलाने के बहाने अच्छी खासी रकम ऐठ कर टूरिस्ट बीजा पर श्रीलंका भेज दिया। इसके बाद इनको एक रेस्टोरेंट मे काम पर लगा दिया, वहां धोखा देकर इन्हें बर्किग बीजा नही दिया।

होटल के मालिक ने ना तो इनका बीजा लगाया और न ही इनकी सैलरी दी।इन लोगो का कहना है कि हमको जखोली के सिरवाड़ी गाँव के रहने वाले रमेश सिह धिरवान ने यह कह कर बुलाया था कि आपका वर्किंग बीजा लगा देगे।जब हमने अपना पास पोर्ट वापस मांगा तो होटल के मालिक ने मारपीट कर वहाँ से भगा दिया।

 

उसके बाद ये लोग निराश होकर किसी परिचित के घर पर रहने लगे। फिर इन लोगो ने
भारतीय दूतावास से संपर्क करके फोन पर अपने बारे में सब कुछ बताया। जिसके बाद 28 मार्च 2018 को भारतीय दूतावास ने इन्हें होटल मे एम्रीगेशन अधिकारी के पास भेजा जिसके बाद होटल मालिक ने इन्हें उनके वापस कर दिये। 29 मार्च 2018 को एक बार फिर से श्रीलंका पुलिस ने इनको पकड़ कर जेल भेज दिया।दो महीने जेल मे गुजारने के बाद 2 मई को भारतीय दूतावास के द्वारा जमानत करवायी गयी।

इसके बाद भारतीय दूतावास ने यह कह कर कि हमारे पास आपके खाने पीने का कोई इंतजाम नही है,तब सभी लोग पौड़ी गढ़वाल के मनवर सिह नेगी से मिले।इसके बाद अगले सात महीने तक ये लोग मनवर सिह नेगी के कमरे ही रहे।और बाद मे कोर्ट ने इन छ लोगो को एक-एक साल की सजा सुनायी। इसके बाद एक बार फिर से भारतीय दूतावास ने इनकी जमानत करवा दी मगर आज तक ये वापस नहीं आ पाए हैं ।

इस बीच सामाजिक कार्यकर्ता सुरेन्द्र उनियाल ने पौड़ी गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत से उनके कार्यालय मे भेट कर बिदेश मंत्री को इन लोगों की रिहाई हेतु पत्र दिया।हालांकि इससे पूर्व रुद्रप्रयाग के विधायक भरत सिह चौधरी व माननीय मुख्यमंत्री से भी अपील की गयी थी, लेकिन सब जस का तस बना हुआ हैं।

LEAVE A REPLY