Home PANCHAYAT POLL IN UTTARAKHAND 280 किलोमीटर दूर दिल्ली से चुना जायेगा इस ग्रामसभा का प्रधान

280 किलोमीटर दूर दिल्ली से चुना जायेगा इस ग्रामसभा का प्रधान

241
0

राकेश चंद्र डंडरियाल

गरमपानी/नैनीताल : उत्तराखड में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा शायद इसी हफ्ते में हो जाएगी , लेकिन पंचायतो में किसकी सरकार बनेगी, उसके लिए जोड़ तोड़ शुरू हो गई है। हाल ही में राजसत्ता न्यूज़ ने रुद्रप्रयाग के रविग्राम की कहानी छापी थी ठीक उसी तरह की कहानी नैनीताल के बेतालघाट ब्लॉक में पड़ने वाले एक और गांव कफूल्टा गाव की भी है । कफूल्टा गाव में लगभग 450 वोटर हैं । गांव की सीट अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित की गई है।

इस गांव में केवल दो ही परिवार अनुसूचित जाति के हैं। अनुसूचित जाति के दो परिवारों में से एक किशन राम का परिवार है, इनके परिवार में कोइ भी महिला नहीं हैं तो प्रधानी का दावा हो ही नहीं सकता हैं । तीन बेटियां हैं तो उनकी भी शादी हो चुकी हैं । दूसरा परिवार गणेश राम का है, जिनके दो बेटे हैं। उनकी पत्‍‌नी सुनीता गणेश राम ग्राम प्रधान बनने के लिए योग्य भी हैं। मगर बिडंबना यह हैं कि वह अपने पति के साथ दिल्ली में रहती हैं। सुनीता अपने पति गणेश राम के साथ दिल्ली में रह रही हैं, पति एक प्राइवेट कंपनी में कार्यरत हैं।

अनुसूचित जाति की महिला आरक्षित सीट होने के कारण केवल सुनीता ही ग्राम प्रधान के लिए एक मात्र दावेदार हैं। कहा यह जा रहा है कि चुनावो की घोषणा होने के बाद वे जल्द ही पति के साथ गाव आएंगी और निर्विरोध गॉव की मुखिया बन जाएंगी। इससे पहले यह ग्रामसभा सामान्य बर्ग के लिए थी ।

इस बार जब प्रधान की सीट अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित हुई तो गाव वालों ने कोई आपत्ति भी नहीं की। ग्रामीणों के अनुसार इस बार सुनीता देवी को ही मौका दिया जा रहा है। नियमानुसार चुनाव प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी। यदि प्रधान पद पर एक ही टिकट की बिक्री होगी तो वह ही निर्विरोध चुनी जाएगी।

LEAVE A REPLY