Home BADRINATH PORTALS 30 अप्रैल को खुलेंगे भगवान् बदरीनाथ के कपाट

30 अप्रैल को खुलेंगे भगवान् बदरीनाथ के कपाट

250
0

दिलबर सिंह बिष्ट

टिहरी: बदरीनाथ धाम के कपाट 30 अप्रैल 2020 को ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 4.30 बजे पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। नरेंद्र नगर राजदरबार में वसंत पंचमी पर कुल पुरोहितों ने महाराज मनुज्येंद्र शाह की जन्म कुंडली देखकर मंदिर के कपाट खोलने का मुहूर्त निकाला,जबकि भगवान बदरी विशाल के महाभिषेक के लिए तिलों का तेल 18 अप्रैल को पिरोया जाएगा।

दूसरी तरफ भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि आगामी 21 फरवरी को महाशिवरात्रि के मौके पर तय की जाएगी।जबकि तुंगनाथ और मध्यमहेश्वर की तिथि बैशाखी पर्व पर तय की जाएगी।

राजदरबार में आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल, संपूर्णानंद जोशी और हेतराम थपलियाल ने गणेश, पचांग और चौकी पूजन के बाद महाराजा मनुज्येंद्र शाह की जन्म कुंडली का अध्ययन और ग्रह नक्षत्रों की दशा देखकर भगवान श्री बदरीनाथ मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोलने की तिथि घोषित की। भगवान बदरीविशाल के महाभिषेक के लिए स्थानीय सुहागिन महिलाएं महारानी माला राज्य लक्ष्मी शाह के नेतृत्व में 18 अप्रैल को राजदरबार में तिलों का तेल निकालेंगी।

उसके पश्चात गाडू घड़ा यात्रा को लेकर डिम्मर पंचायत के लोग अपने गंतव्य को प्रस्थान करेंगे। इस बीच यात्रा ऋषिकेश, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, डिमर गांव और पांडुकेश्वर आदि विभिन्न स्थानों पर रुकने के बाद 29 अप्रैल को बदरीविशाल के मंदिर में पहुंचेगी। 30 अप्रैल को तिलों के तेल से बदरीविशाल का महाभिषेक के बाद मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

इस दौरान बदरी-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, उपाध्यक्ष अशोक खत्री, चारधाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ममर्गाइं, बदरीनाथ के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी, सीईओ बीडी सिंह, धर्माधिकारी भुवन उनियाल, डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के अध्यक्ष विनोद डिमरी, सचिव राजेंद्र डिमरी, आशुतोष डिमरी, सुरेश डिमरी, सदस्य अरुण मैठाणी, चंद्रकला ध्यानी, राजपाल पुंडीर, राजपाल जड़धारी, इंद्रमणी गैरोला आदि उपस्थित थे ।

LEAVE A REPLY