Home Uncategorized दिल्ली पुलिस में पहाड़ के गौरव हुए सम्मानित

दिल्ली पुलिस में पहाड़ के गौरव हुए सम्मानित

194
0

राकेश डंडरियाल
नई दिल्ली : इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान दिल्ली पुलिस के 35 अधिकारियों को उनकी सेवाओं के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। इनमें से 16 अधिकारियों को वीरता के लिए पुलिस पदक, विशिष्ट सेवा के लिए तीन को राष्ट्रपति पुलिस पदक और 16 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक दिया गया। पदक पाने वालों में उत्तराखंड मूल के कई पुलिस अधिकारी शामिल हैं।

शहीद इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा बने देश में सबसे ज्यादा गैलेंट्री मेडल लेने वाले पुलिस अफसर

2008 में बटला हाउस एनकाउंटर में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा को मरणोपरांत गैलेंट्री पदक से सम्मानित किया गया हैं। । इस गैलेंट्री पदक से उनका नाम देश में सबसे ज्यादा गैलेंट्री पदक पाने वाले पुलिस अधिकारी की लिस्‍ट में शुमार हो गया है. उनके नाम पर अब तक 9 गैलेन्ट्री मेडल थे , लेकिन अब एक और गैलेन्ट्री पदक मिलने की घोषणा के साथ ही वे देश में सबसे ज्यादा गैलेन्द्री पदक वाले अधिकारियों में शामिल हो गए , दिल्ली पुलिस में अभी एक मात्र अशोक चक्र पदक विजेता के तौर पर मोहन चंद शर्मा का नाम दर्ज ह। उन्हें 26 जनवरी 2009 को सर्वोच्च वीरता पदक “अशोक चक्र” से सम्मानित किया गया।

दिल्ली पुलिस में कार्यरत कैलाश चंद्र गौनियाल को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। गौनियाल मूल रूप से पौड़ी जिले के कमडई, खाटली के निवासी हैं।

विनोद बडोला को बीरता के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। 24 अक्टूबर, 2013 में खूंखार अपराधी सुरिंदर मलिक उर्फ नीतू दाबोधा के साथ मुठभेड़ के दौरान बहादुरी के लिए इंस्पेक्टर विनोद कुमार बडोला को यह सम्मान दिया गया है।

LEAVE A REPLY