Home Uncategorized विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान का 97 वां स्थापना दिवस समारोह ,...

विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान का 97 वां स्थापना दिवस समारोह , कोरोना महामारी के मद्देनजर सोशल डिस्टन्सिंग के साथ मनाया गया

58
0

संजय कुमार अग्रवाल
अल्मोड़ा:अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, अल्मोड़ा का शनिवार को 97वां स्थापना दिवस वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग व सोशल डिस्टैन्सिंग के साथ मनाया गया . आज से 97 वर्ष पूर्व बी.सी सेन द्वारा एक मिनी प्रयोगशाला के रूप में इस संस्थान की नीव रखी गयी थी. उनके देहांत के बाद उनकी पत्नी इमर्सन सेन द्वारा संस्थान को गति मिल। विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान की ऐतिहासिक पृष्टिभूमि भूमि के निदेशक ने कहा कि कि संस्थान ने कृषि के क्षेत्र में अनेकों काम किए हैं। इस दौरान उन्होंने संस्थान के 97 साल के इतिहास पर प्रकाश डाला , कि कैसे यह संस्थान एक प्राइवेट लैबोरेटरी से कृषि अनुसन्धान में एक अग्रगणीय संस्थान बना हैं , उन्होंने पिछले एक साल के दौरान की गई उपलब्धियों का भी इस दौरान लेखा जोखा रखा।

कार्यक्रम की शुरुआत विवेकानंद की प्रतिमा में पुष्पांजलि व दीप प्रज्वल्लित करने के साथ साथ सोशल डिस्टैन्सिंग का भी ध्यान रखा गय। कार्यक्रम में शिरकत करते हुए रामकृष्ण कुटीर के अध्यक्ष स्वामी घुबेसानंद ने कहा कि विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान और राम कृष्ण कुटीर का पुराना नाता रहा है। उन्होंने स्वामी विवेकानंद का जिक्र करते हुए बताया कि स्वामी विवेकानदं ने हमेशा कर्म को मह्त्व दिया।

स्थापना दिवस पर विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, तथा भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद् के बरिष्ट अधिकारीयों द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा सम्बोधित किया।

LEAVE A REPLY