Home Uncategorized पेट्रोल डीजल के दामों व रोडवेज की बसों का किराया हद से...

पेट्रोल डीजल के दामों व रोडवेज की बसों का किराया हद से अधिक बढ़ाने जाने को लेकर कांग्रेस में भारी रोष

167
0

संजय कुमार अग्रवाल

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा के पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने प्रदेश सरकार द्वारा रोडवेज की बसों का किराया सीधे दुगुना कर दिए जाने पर रोष व्यक्त किया है।उन्होंने कहा कि आज जहां एक ओर पूरे प्रदेश की जनता लाकडाऊन के कारण आर्थिक रूप से बेहद कमजोर हो चुकी है एवम् गरीब व मध्यम वर्ग की आर्थिक स्थिति बुरी तरह से खराब है ऐसे में रोडवेज की बसो़ का किराया दुगुना हो जाने से आम जनता की कमर ही टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि रोडवेज की बसों का उपयोग अधिकतम गरीब एवम् मध्यमवर्ग ही करता है, जिस कारण इस वर्ग पर प्रदेश सरकार की यह दोहरी मार है।सरकार को रोडवेज की बसों के किराये को तय करते समय संवेदनशीलता दिखानी चाहिए थी।तिवारी ने कहा कि किसी भी तरह के घाटे को पूरा करने के लिए जनता पर आर्थिक भार डालना दुर्भाग्यपूर्ण है।

पूर्व विधायक तिवारी ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश सरकार अपने इस किराया बढ़ोत्तरी के आदेश को अविलम्ब वापस ले जिससे कि जनता को राहत मिल सके।उन्होंने कहा कि विगत 16 दिनों से लगातार पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में बढ़ोत्तरी हो रही है जिस कारण पेट्रोल-डीजल का मूल्य वर्तमान में अपनी सारी सीमाएं लांघ गया है।

पहले से आर्थिक रूप से अक्षम पड़ी देश की जनता पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों से हैरान-परेशान है।उन्होंने कहा कि डीजल का मूल्य बढ़ने से दैनिक उपभोग की प्रत्येक वस्तु महंगी होगी जिसका विपरीत आर्थिक असर सीधे सीधे जनता पर पड़ेगा। तिवारी ने कहा कि जहां आज इस महामारी के कठिन दौर में केन्द्र सरकार को पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्यों को कम कर स्थिर रखना चाहिए था वही हर रोज पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ाकर जनता को परेशान करने का काम केन्द्र सरकार द्वारा किया जा रहा है।पूर्व विधायक ने स्पष्ट रूप से कहा कि केन्द्र सरकार को जनहित में अब बिना समय गवाए पेट्रोल-डीजल के दाम कम कर उन्हें स्थिर करना चाहिए।

LEAVE A REPLY