Home Uncategorized बन विभाग की उदासीनता से गुस्साए कांग्रेसियों ने फूका डी एफ ओ...

बन विभाग की उदासीनता से गुस्साए कांग्रेसियों ने फूका डी एफ ओ का पुतला।

270
0

संजय कुमार अग्रवाल
अल्मोड़ा। सोमवार को भैसियाछाना ब्लाक के डूंगरी क्षेत्र के उडलगांव में गुलदार द्वारा ढाई वर्ष के मासूम बालक को अपना शिकार बना लेने की हदृयविदारक घटना से गुस्साए कांग्रेसजनों ने आज दोपहर वन विभाग कार्यालय के सामने प्रभागीय वनाधिकारी का पुतला फूंक इस्तीफे की मांग की। इस अवसर पर कांग्रेस नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतैला ने कहा कि लम्बे समय से अल्मोड़ा नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में गुलदार का आतंक बना हुआ है, और वन विभाग इन गुलदारों के आतंक को रोकने में पूरी तरह असफल साबित हो रहा है।

उन्होंने कहा कि चार दिन पूर्व भी नगर कांग्रेस ने गुलदार के संभावित सभी क्षेत्रों में पिजड़ा लगाने की मांग प्रभागीय वनाधिकारी को ज्ञापन के माध्यम से की थी परन्तु वन विभाग के द्वारा लापरवाही करते हुए कहीं पर भी पिजड़ा नहीं लगाया गया। कांग्रेसजनों ने मांग की है कि डुंगरा गांव के गुलदार को अविलम्ब नरभक्षी घोषित किया जाए । इसके साथ ही अल्मोड़ा नगर सहित समूचे क्षेत्र में जहां पर भी गुलदार दिखाई दे रहा है , उस पकड़ने के लिए अविलम्ब पिजड़े लगाये जाएं।कांग्रेसजनों ने कहा कि इतना बड़ा वन विभाग होते हुए भी यदि विभाग इन नरभक्षी गुलदारों को पकड़ने में लगातार असफल साबित होता है तो वन विभाग के अल्मोड़ा रेंज के डी०एफ०ओ०,रेंजर सहित ऊंचे ओहदों पर बैठे आला अधिकारियों को तुरन्त अपने पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए।

इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने कहा कि यदि तुरन्त डुंगरा गांव के नरभक्षी गुलदार को आदमखोर घोषित नहीं किया गया एवम् गुलदार प्रभावित सभी क्षेत्रों में पिजड़े नहीं लगाए गये तो कांंग्रेस पार्टी सड़कों पर उतरकर प्रभागीय वनाधिकारी के खिलाफ आन्दोलन को बाध्य होगी जिसकी समस्त जिम्मेदारी वन-विभाग की होगी।पुतला दहन कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय,नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतैला,महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी,जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक,जिला सचिव दीपांशु पान्डेय,वरिष्ठ उपाध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी,पूर्व छात्रसंघ उपसचिव वैभव पान्डेय,राबिन भन्डारी,सुमित कुमार,पारितोष जोशी,कैलाश पन्त,भैरव पन्त,विनोद सिंह,अरविन्द रौतैला, इन्द्रा वर्मा,संगम पान्डेतय,प्रकाश पान्डेय सहित दर्जनों कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY