Home Uncategorized जिलाधिकारी बागेश्वर के आदेश : केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा...

जिलाधिकारी बागेश्वर के आदेश : केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को गंभीरता से ले अधिकारी , कोताही बर्दास्त नहीं

131
0

संजय कुमार अग्रवाल

बागेश्वर । जिलाधिकारी विनीत कुमार ने शुक्रवार को जनपद में संचालित की जा रही केन्द्र पोषित, राज्य पोषित एवं जिला योजना से संबंधित विभिन्न योजनाओं की प्रगति एवं उनमें की गयी कार्यवाही आदि की विभागवार समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा संचालित की जा रही विभिन्न लोक कल्याणकारी, जन उपयोगी एवं आजीविका बर्द्धक योजनाओं का वास्तविक लाभ लाभार्थियों तक अनिवार्य रूप से पहुॅचें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में इस बात को सुनिश्चित किया जाय कि योजनाओं हेतु निर्धारित लक्ष्य को समयान्तर्गत प्राप्त किया जाय इस हेतु यह आवश्यक है, कि दीर्घकालिक लक्ष्यों का विभाजन वार्षिक एवं मासिक रूप में अनिवार्य रूप से किया जाय ताकि योजना के दीर्घकालिक लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि विभिन्न माध्यमों द्वारा संचालित किये जा रहे योजनाओं का उद्देश्य समाज के अंतिम व्यक्ति को भी विकास की मुख्य धारा से जोड़ते हुए एक समृद्ध समाज का निर्माण करना है इसके लिए यह आवश्यक है कि सभी विभाग पूर्णत: ईमानदारी और दृढ इच्छाशक्ति के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें ताकि योजनाओं के वास्तविक धरातलीय क्रियान्वयन को सुनिश्चित किया जा सके।

उन्होंने सभी विभागों को निर्देशित करते हुए कहा कि विभागों द्वारा कराये जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाय जिसमें किसी प्रकार की कोई लापरवाही न बरती जाय। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता एवं मितव्ययता को सुनिश्चित करने के लिए संबंधित विभाग के फील्ड स्तर के अधिकारी एवं कर्मचारी नियमित रूप से अपने अपने क्षेत्रों का भ्रमण करें तथा कार्यालयध्यक्ष प्रतिदिन अपने निर्माण आदि कार्यों की प्रगति आख्या अनिवार्य रूप से ले। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि सभी विभाग यह अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें कि विभिन्न माध्यमों से प्राप्त धनराशि का व्यय निर्धारित मद में वित्तीय नियमावली के अनुरूप ही किया जाय, जिसमें कोई लापरवाही न बरती जाय। उन्होंने कहा कि विभाग यह भी सुनिश्चित करें कि वित्तीय वर्ष 2020-21 हेतु निर्मित योजनाओं में नियमित समायावधि में भुगतान अनिवार्य रूप से किया जाय, ताकि विभाग आवंटित लक्ष्य को निर्धारित समयावधि में प्राप्त कर सके।

जिलाधिकारी ने बिजली , उरेडा, पेयजल, सड़क आदि विभागों को निर्देशित करते हुए कहा कि वे यह अनिवार्य रूप से यह सुनिश्चित करें कि जनपद के दुरूस्त क्षेत्रों में विद्युत, सड़क, पानी आदि जैसी मूलभूत समस्याओं की आपूर्ति नियमित रूप से हो। उन्होंने कहा कि जनपद का कपकोट क्षेत्र आपदा के दृष्टि से अतिसंवेदनशील है, अत: इस क्षेत्र में इन विभागों को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने विभागों को यह भी निर्देश दिये कि यदि कोर्इ प्रकरण शासन स्तर पर लंबित हो तो उस संबंध में विभाग जिलाधिकारी के माध्यम से पत्राचार कराना सुनिश्चित करें, ताकि समस्याओं का समाधान करते हुए योजनाओं का तीव्र रूप से धरातलीय क्रियान्वयन सुनिश्चित हो सके।
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डी डी पंत द्वारा विभिन्न विभागों द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं के अन्तर्गत किये गये व्यय एवं उनसे संबंधित अवशेष बजट एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही समस्याओं आदि के बारे में जिलाधिकारी को विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।
बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी बी एस शाही, जिला विकास अधिकारी के एन तिवारी, अपर परियोजना निदेशक शिल्पी पन्त, मुख्य कृषि अधिकारी बी पी मौर्य, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ उदय शंकर, उद्यान अधिकारी आर के सिंह, अधिशाषी अभियंता पीडब्लूडी तिलारा, कपकोट संजय कुमार पाण्डे, जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र बिष्ट, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी देवेन्द्र नाथ गोस्वामी सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY