Home Uncategorized पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने बीजेपी सरकार के तीन साल को बताया...

पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने बीजेपी सरकार के तीन साल को बताया निराशाजनक

213
0

संजय कुमार अग्रवाल

अल्मोड़ा। अल्मोड़ा के पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने प्रदेश सरकार के तीन वर्ष से भी अधिक के समय के कार्यकाल को पूरी तरह निराशाजनक करार दिया। तिवारी ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि प्रदेश में डबल इंजन की भाजपा सरकार होते हुए भी प्रदेश सरकार जनता को मूलभूत सुविधाओं जैसे सड़क,स्वास्थ्य,रोजगार एवम् अन्य मूलभूत आवश्यकताऐं जिनमें शुद्व पेयजल भी सम्मिलित है सुचारू एवम् आवश्यकतानुसार उपलब्ध नहीं करा पा रही है जो कि काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि आज अल्मोड़ा सहित पूरे प्रदेश की सड़कों की हालात दयनीय है जिनका डामरीकरण एवम् हाटमिक्स करने में प्रदेश सरकार लगातार असफल साबित हो रही है।अल्मोड़ा की मालरोड,गैस गोदाम लिंक रोड,रानीधारा रोड,टैक्सी स्टेन्ड लिंक रोड,जेल रोड,करबला से कोसी मार्ग में जगह जगह गढ्ढे ही गढ्ढे हैं। सड़कों की ऐसी दयनीय स्थिति के बावजूद भी प्रदेश सरकार इन सड़कों में नया हाटमिक्स एवम् डामर करने के बजाय केवल खानापूर्ति के लिए गढ्ढे भरकर टल्ले लगाने का कार्य कर रही है।

पूर्व विधायक तिवारी ने कहा कि जनता की सुरक्षा की दृष्टि से प्रदेश सरकार को अल्मोड़ा की सड़कों में अविलम्ब हाटमिक्स एवम् डामरीकरण करके इन्हें सुरक्षित बनाना चाहिए।इसके अलावा श्री तिवारी ने अभी तक अल्मोड़ा मेडिकल कालेज को प्रारम्भ ना किये जाने पर भी गहरा रोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांंग्रेस सरकार में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के सहयोग से उनके द्वारा मेडिकल कालेज का निर्माण इस उद्देश्य से प्रारम्भ करवाया गया था कि अल्मोड़ा सहित समूचे पहाड़ी क्षेत्रों को इसका लाभ मिल सके परन्तु बड़े दुर्भाग्य की बात है कि आज इतना समय बीत जाने के बाद भी प्रदेश की डबल इंजन सरकार अल्मोड़ा मेडिकल कालेज को संचालित नहीं करवा पायी है जिस कारण अल्मोड़ा सहित समूचे पहाड़ी क्षेत्र की जनता को स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए मैदानी क्षेत्रों की ओर दौड़ लगानी पड़ रही है।

तिवारी ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों के युवाओं को भी सरकार रोजगार देने में पूरी तरह असफल साबित हुई है।अल्मोड़ा की आल्पस फैक्ट्री जिसमें अल्मोड़ा के सैकड़ों युवाओं को रोजगार मिल रहा था को भी बन्द होने से प्रदेश की डबल इंजन सरकार नहीं रोक पायी जिसके फलस्वरूप आल्पस फैक्ट्री में कार्य करने वाले सैकड़ो लोग आज बेरोजगार हो गये।श्री तिवारी ने कहा कि यह प्रदेश सरकार की उदासीनता ही है जो प्रदेश सरकार क्षेत्र में नयी फैक्ट्रियों,उधोगों की स्थापना तो नहीं कर पायी परन्तु इसके विपरीत आल्पस जैसी सैकड़ों युवाओं को रोजगार देने वाली फैक्ट्री को भी बन्द होने से नहीं रोक पायी।इसके अलावा क्षेत्र में गुलदारों के आतंक पर भी पूर्व विधायक ने गहरा रोष व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि जनता के जान-माल की हिफाजत करना प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी है।क्षेत्र में लगातार गुलदार का आतंक बड़ता ही जा रहा है परन्तु ऐसा प्रतीत होता है कि इस विषय पर भी प्रदेश सरकार उदासीन बनी हुई है।उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि सरकार वन-विभाग को प्रत्येक जगह समुचित साधन उपलब्ध कराए जिससे कि वन-विभाग त्वरित रूप से गुलदार एवम् जंगली जानवरों के आतंक से जनता को निजात दिला सके।इसके अलावा श्री तिवारी ने अल्मोड़ा सहित समूचे पर्वतीय क्षेत्र में लागू जिला विकास प्राधिकरण को भी जनविरोधी करार दिया। तिवारी ने प्रदेश सरकार से अविलम्ब अल्मोड़ा सहित पूरे प्रदेश की सड़कों की स्थिति सुधारने,अल्मोड़ा मेडिकल कालेज को संचालित करने के साथ ही युवाओं को रोजगार देने के लिए स्पष्ट नीति बनाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY