Home Uncategorized केदारघाटी घाटी मे भारी बारिश, फाटा रामपुर में अतिबृष्टि से भारी नुकसान...

केदारघाटी घाटी मे भारी बारिश, फाटा रामपुर में अतिबृष्टि से भारी नुकसान बाजार में घुसा मलबा

1027
0

सतेन्द्र सिंह बिष्ट/धीरेन्द्र सिंह
रुद्रप्रयाग/चमोली।केदारघाटी में लगातार हो रही मूसलाधार वारिस आफत बनती जा रही है जगह जगह अतिबृष्टि से खतरा पैदा हो गया । फाटा रामपुर के आस पास भारी वारिस से भारी नुकसान की सूचना है रामपुर बाजार में स्थानीय गदेरा उफान पर है व मलबा बजार मे घुसने से अफरातफरी का माहौल है।
ब्यापार संघ अध्यक्ष मोहन प्रकाश मैठाणी ने बताया कि कल रात आठ बजे से क्षेत्र मे भारी बारिश जारी है स्थानीय गदेरे का मलबा रामपुर बाजार मे दुकानों मे घुस गया है जिससे भारी नुकसान हुआ है। अंदेशा है कि फाटा रामपुर के ऊपर बादल फटने के कारण पानी बहुत ज्यादा आ गया है तथा गदेरा बन्द हो गया है पूरा पानी बाजार में आ जाने से बाजार सहित कई आवासीय भवन खतरे की जद में आ गये हैं। उधर त्रिजुगीनारायण में भी भारी वारिस की खबर है ।


तथा रुद्रप्रयाग गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग बांसवाड़ा भीरी के बीच, मुनकटिया तथा गौरीकुंड बड़ी पार्किंग के समीप यातायात हेतु अवरुद्ध चल रहा है। वंही सोनप्रयाग में एस डी आर एफ की चौकी में मलबा घुस जाने की खबर आ रही है ।जामू में कई मीटर राष्ट्रीय राजमार्ग धँस गया है।
दूसरी ओर चमोली जिले के पोखरी क्षेत्र में भारी बारिश के कारण सुबह साढ़े तीन बजे तकरीबन मूल गांव पोखरी के ग्रामीणो के घरो मे मलवा घुसने से हजारों का नुकसान हो गया है । प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह साढ़े तीन बजे तकरीबन मूल गांव पोखरी के बगल से बह रहा नाला पलटने से भुवनेश्वरी देवी व कान्ता भट्ट की मकान/गौ शाला सहित कई घर-आंगन में घुसा मलवा, हजारों का नुकसान होना बताया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह साढ़े तीन बजे तकरीबन मूल गांव पोखरी के बगल से बह रहा नाला पलटने से भुवनेश्वरी देवी व कान्ता भट्ट की गौशाला सहित कई घरो व आंगन चौक में पहुंच गया मलवा, जिससे ग्रामीणों भय बना हुआ है। इस बात की जानकारी मिलने पर पुलिस व राजस्व कर्मचारी मौके पर गये और नुकसान का जायजा लिया, पोखरी के राजस्व उप निरीक्षक मनोज बर्त्वाल ने बताया कि भुवनेश्वरी देवी के घर में रखी खाद्य सामग्री को जो नुकसान हुआ है, उन्हे शीघ्र अहेतुक राशि दी गयी है। गांव के कान्ता भट्ट और जगदीश भट्ट ने बताया कि भारी बारिश के चलते वे घर के चारों ओर देखने लगे तो देखा गांव के बगल से बह रहा नाला पलटने गया और भुवनेश्वरी देवी व कान्ता भट्ट की गौशाला में सबसे ज्यादा मलवा व पानी बह रहा है उसमें घर के अन्दर रखी सामग्री भी बह रही है, दोनो लोगों ने नाले का पानी नाले की पलटा अन्यथा मकान भी ढह जाता। हालांकि बाद में गांव के कई लोग पहुंचे थे।

LEAVE A REPLY