Home Uncategorized सरकारी फैसले के खिलाफ केदारघाटी की जनता सडकों पर।

सरकारी फैसले के खिलाफ केदारघाटी की जनता सडकों पर।

255
0

कोरोना संक्रमण की भयावहता को देखते हुए बाहरी प्रदेश के लोगों को केदारनाथ यात्रा की अनुमति देने के सरकार के फैसले का किया विरोध

सतेंद्र सिंह बिष्ट/धीरेेन्द्र

रुद्रप्रयाग। लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुये केदार घाटी की जनता व जनप्रतिनिधियों ने बाहरी प्रदेशों से केदारनाथ यात्रा पर आने वाले यात्रियों पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है ।


आज पंच केदारघाटी जन सेवा व सास्कृतिक मंच के बैनर तले केदारघाटी की जनता व जनप्रतिनिधि सरकार द्वारा बाहरी राज्यों से यात्रियों को केदारनाथ यात्रा की अनुमति देने के फैसले के खिलाफ सड़को पर उतर आये छैत्रीय जनता ने विरोध स्वरूप कुण्ड मे राष्ट्रीय राजमार्ग पर सांकेतिक जाम लगा दिया । जनप्रतिनिधियों का कहना था कि पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है वहीँ अभी पर्वतीय छैत्रों में इस महामारी का प्रकोप कम है जबकि जनपद रुद्रप्रयाग में कोरोना मरीजों की सख्या न के बराबर है जो भी केस आये है सभी बाहर से जनपद मे आये लोगों के है ऐसे में सरकार द्वारा चारधामों की यात्रा के लिये बाहरी प्रदेशों के लोगों को अनुमति देना सरासर गलत है।

जनप्रतिनिधियों ने आंशका जताई कि सरकार का यह निर्णय कहीं इस क्षेत्र में भी महामारी को न फैला दे। सरकार के इस निर्णय के खिलाफ आज केदारघाटी जन सेवा एंव सास्कृतिक मंच के बैनर तले क्षेत्रीय जनता व जनप्रतिनिधि सड़कों पर उतर आये व विरोध स्वरुप राष्ट्रीय राजमार्ग को कुण्ड में जाम कर दिया बाद में प्रशासन की ओर से उप जिलाधिकारी ऊखीमठ वरुण अग्रवाल व थाना ऊखीमठ पुलिस मौके पर पहुंची व आंदोलनरत जनता को समझाने का प्रयास किया बाद में आंदलनकारियों ने शासन प्रशासन को तीन दिन में निर्णय लेने का अल्टीमेटम देकर जाम को खत्म किया गया।


विरोध प्रदर्शन करने वालों में जिला पंचायत सदस्य कालीमठ विनोद राणा,गुप्तकाशी जिला पंचायत सदस्य गणेश तिवारी,बबिता सजवाण त्रियुगीनारायण क्षेत्र पंचय सदस्य लक्ष्मण राणा ,प्रधान त्रिलोक सिंह राणा सदस्य,केदारघाटी जन सेवा एंव सांस्कृतिक मंच के अध्यक्ष धर्मेश नौटियाल,प्रधान संगठन के ब्लाक अध्यक्ष सुभाष रावत संदीप पुष्पवान सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व क्षेत्र की जनता उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY