Home Uncategorized अब देश भर के लोग कर सकेगें चारधाम यात्रा, साथ रखनी होगी...

अब देश भर के लोग कर सकेगें चारधाम यात्रा, साथ रखनी होगी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

146
0

राजसत्ता न्यूज ब्यूरो

  • प्रदेश से बाहर के सभी लोगों के लिए चारधाम यात्रा की स्वास्थ्य मानक पूरे करने के बाद अनुमति -रविनाथ रमन
  • नयी मानक प्रचालन विधि ( एसओपी) में 72 घंटे पहले की कोरोना नैगेटिव रिपोर्ट सहित देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट से ई पास लेकर कर प्रदेश से बाहर के लोग चारधाम यात्रा कर सकेंगे।
  • चारधाम यात्रा को हालात सामान्य होने पर अधिक गति दी जायेगी।
  • अभी तक देवस्थानम बोर्ड द्वारा 21178 ई पास जारी किये।
  • दस हजार से अधिक उत्तराखंड के तीर्थ यात्री श्री बदरीनाथ-केदारनाथ, गंगोत्री-यमुनोत्री दर्शन को पहुंचे।

देहरादून 24 जुलाई। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने कहा कि उत्तराखंड में चारधाम यात्रा उत्तराखंड प्रदेश के लोगों के लिए शुरू होने के बाद अब सभी लोग चार धाम यात्रा कर सकेंगे।
चारधाम यात्रा पर जारी नयी मानक प्रचालन विधि के तहत प्रदेश से बाहर के लोग चार धाम यात्रा कर सकते है। वशर्ते वह 72 घंटे पहले कोरोना निगेटिव रिपोर्ट एवं देवस्थानम बोर्ड से जारी ई पास एवं संबंधित एडवाइजरी का पालन करते हो।
अनलाक डाउन एक के प्रावधानों में प्रदेश सरकार ने संशोधन करते हुए चारधाम यात्रा को गति देने का प्रयास किया है।
ऐसे लोग जो उत्तराखंड से बाहर के निवासी हैं चारधाम यात्रा कर सकेंगे लेकिन उन्हें यात्रा के 72 घंटे पहले कोरोना की नैगेटिव टेस्ट रिपोर्ट प्रस्तुत की हो अथवा निर्धारित क्वारंटीन अवधि पूरी की हो तथा वह कोरोना बचाव हेतु जारी एडवाइजरी के मानक पूरे करते हो। ई पास लेकर चारधाम यात्रा पर आ सकेंगे।
उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट है कि कोरोना संकट को देखते हुए देश के अन्य प्रांतों के लोगों को चारधाम यात्रा की प्रदेश सरकार एवं देवस्थानम बोर्ड द्वारा अनुमति दी जा रही है। भविष्य में हालात सामान्य होने पर उत्तराखंड चारधाम यात्रा को अधिक गति दी जायेगी उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा उत्तराखंड प्रदेश का आर्थिकी का भी महत्त्वपूर्ण अंग है अतः यात्रा को पटरी पर लाने हेतु प्रयाश जारी हैं।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ईसी रोड स्थितकार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार एवं देवस्थानम बोर्ड द्वारा
प्रदेश के लोगों के लिए चार धाम यात्रा का 1 जुलाई से शुभारंभ कर दिया। अब स्वास्थ्य मानकों को पूरा कर सभी लोग चारधाम यात्रा कर सकेंगे।
बताया कि अभी तक उत्तराखंड के दस हजार से अधिक तीर्थ यात्री चार धाम पहुंच गये हैं। जबकि देवस्थानम बोर्ड द्वारा आज तक तक 21178 ई -पास जारी किये जा चुके है।
देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइटwww.badrinath-kedarnath.gov. in से आज 332 लोगों ने चार धामों हेतु ई पास बुक कराये है।
जिसमें श्री बदरीनाथ धाम के लिए 44 श्री केदारनाथ धाम के लिए 190 श्री गंगोत्री धाम हेतु 85 श्री यमुनोत्री धाम हेतु 13 लोगों ने ई पास बुक कराये हैं।
थर्मल स्क्रीनिंग, सेनेटाइजेशन के पश्चात ही मंदिरों में तीर्थ यात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है।मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है शोसियल डिसटेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है। यात्रा मार्ग पर देवस्थानम बोर्ड के यात्री विश्राम गृहों को तीर्थ यात्रियों की सुविधा हेतु खोला जा चुका है। तीर्थयात्रियों से अपेक्षा की जा रही है कि अति आवश्यक होने पर ही धामों में रूके। यह कोशिश रहे कि दर्शन के पश्चात तीर्थ यात्री निकटवर्ती स्टेशनों तक वापस आ जाये। मौसम तथा सड़कों की स्थिति की जानकारी रखें।
प्रदेश सरकार का प्रयास है कि चारों धामों में धीरे-धीरे तीर्थ यात्रियों की आमद हो ताकि पर्यटन एवं तीर्थाटन को गति मिल सके। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के गठन का मकसद भी तीर्थ यात्रियों हेतु सुविधाएं मुहैया करवाना तथा सरल सुलभ दर्शन ब्यवस्था बनाना है। कहा कि चारधामों में तीर्थ पुरोहितों के हक हकूक यथावत है। हक हकूकधारियों के हितों को देवस्थानम बोर्ड अधिनियम में ब्यापक संरक्षण दिया गया है इसमें कोई संदेह नहीं है।

LEAVE A REPLY