Home Uncategorized बिना प्रमाण के किसी जनप्रतिनिधि की छवि धूमिल करना चिंता का विषय,...

बिना प्रमाण के किसी जनप्रतिनिधि की छवि धूमिल करना चिंता का विषय, पांडेय

175
0

संजय कुमार अग्रवाल

अल्मोड़ा।भारतीय राष्ट्रीय कांंग्रेस, अल्मोड़ा के जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय ने रानीखेत मण्डल में आवारा पशुओं को लेकर उपजे विवाद पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि आज ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामवासियों द्वारा पालतू जानवरों को आवारा छोड़ दिया जाता है ।जिससे जानवरों के झुन्डों द्वारा खेतों में जाकर फसलों को क्षति पहुंचाई जाती है , जिससे ग्रामीणों को आये दिन शिकायतें रहती हैं।रानीखेत क्षेत्र में भी एक क्षेत्र से आवारा पशुओं को दूसरे क्षेत्र में छोड़े जाने की शिकायत पर एक निर्वाचित एवम् प्रमुख पद पर आसीन हीरा सिंह रावत पर गौ तस्करी का आरोप लगाना सरासर निराधार है।

उन्होंने कहा कि यह सभी निर्वाचित जनप्रतिनिधियों का अपमान है, प्रमाण के बिना किसी की छवि को धूमिल करना तथा उसे राजनैतिक रंग देना चिन्तनीय विषय है।उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा इसे राजनैतिक रंग देने के बजाय सरकार से मांग की जानी चाहि कि आवारा पशुओं को शीघ्र व्यवस्था कर गौ सदन पहुंचाया जाए तथ उनके पालन-पोषण की व्यवस्था सरकार द्वारा की जाए।

जिलाध्यक्ष पान्डेय ने शासन से मांग की है कि एक स्थान विशेष ही नहीं बल्कि सभी जगह किसानों की फसलों को आवारा पशुओं से पहुंचाई जाने वाली क्षति से बचाने हेतु आवारा पशुओं को गौ सदन में रखने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने सभी राजनैतिक दलों के कार्यकर्ताओं से विनम्र अपील की है कि इस प्रकार समाज में द्वेष भावना फैलाना एवम् निराधार आरोपों का गढ़ना सभी के लिए उचित नहीं है।

LEAVE A REPLY