Home STATES Lok Sabha Election 2019: चुनाव खर्च में कौन सा प्रत्याशी सबसे आगे,जानिए

Lok Sabha Election 2019: चुनाव खर्च में कौन सा प्रत्याशी सबसे आगे,जानिए

315
0
tehri-lok-sabha-election-2019-uttarakhand

टिहरी  लोकसभा सीट का भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह ने सबसे ज्यादा चुनाव खर्च किया है। प्रचार खर्चों की जांच कर रहे व्यय प्रेक्षक ने कांग्रेस प्रत्याशी प्रीतम सिंह और माला राज्य लक्ष्मी शाह सहित अन्य प्रत्याशियों की तरफ से प्रस्तुत खर्चों में खामियां पकड़ीं हैं। व्यय प्रेक्षक के अनुसार दोनों प्रत्याशियों ने आधा ही खर्चा दिखाया है। कुछ उम्मीदवारों ने तो तीसरे चरण में हुए प्रचार के खर्च की जानकारी ही नहीं दी।

ऐसे में जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी 14 प्रत्याशियों को नोटिस जारी कर तीन दिन के अंदर जवाब मांगा है। लेखा टीम की तरफ से तैयार किए गए व्यय प्रेक्षण पंजिका के अनुसार टिहरी सीट से भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह ने सात अप्रैल को प्रस्तुत निर्वाचन व्यय पंजिका में अपना खर्चा 16.92 लाख दिखाया था। जबकि व्यय प्रेक्षक की रिपोर्ट में उनका खर्चा 46.26 लाख रुपये दर्शाया गया है। साथ ही परेड मैदान में मोदी की रैली में ही 25 लाख का खर्चा पहले ही सामने आ चुका है। दूसरी तरफ कांग्रेस प्रत्याशी प्रीतम सिंह का चुनावी खर्चा 25.85 लाख दिखाया गया है।

उनकी की ओर से सात अप्रैल को प्रस्तुत निर्वाचन व्यय पंजिका के मुताबिक चुनावी प्रचार का खर्चा 9.97 लाख  दर्शाया गया था। व्यय प्रेक्षक का कहना है कि इससे स्पष्ट होता है कि उनके द्वारा निर्वाचन व्यय लेख में वास्तविक व्यय का अंकन नहीं किया गया है। इसके अतिरिक्त निर्वाचन व्यय पंजिका के नगद रजिस्टर तथा निर्वाचन व्यय पंजिका के बैंक रजिस्टर में निर्वाचन अभिकर्ता के हस्ताक्षर भी नहीं है। लेखा में प्रतिदिन का व्यय दर्ज करने में भी प्रत्याशी नाकाम रहे है।

बसपा प्रत्याशी सत्यपाल ने चुनाव प्रचार में 40.65 हजार का खर्चा दिखाया, जबकि व्यय प्रेक्षक की रिपोर्ट में खर्चा 1.70 लाख रुपये है। निर्दलीय प्रत्याशी दौलत कुंवर ने अपना खर्चा 2.90 लाख दिखाया, जबकि व्यय प्रेक्षक की रिपोर्ट में खर्चा 4.92 लाख दर्शाया गया है। ऐसे ही निर्दलीय उम्मदीवार गोपालमणि ने भी अपना खर्चा कम बताया है। वहीं, प्रत्याशी जयप्रकाश उपाध्याय सहित अन्य निर्दलीय प्रत्याशियों के निर्वाचन व्यय में खामियां मिली हैं। बिल बाउचर भी नहीं लगाए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी एसए मुरुगेशन ने प्रत्याशियों को नोटिस भेजकर तीन दिन के अंदर जवाब मांगा है।

बूथ पर खाना और नाश्ते के लिए खर्चा तय  
देहरादून। निर्वाचन आयोग ने बूथ में लगने वाले बस्ते में प्रत्याशियों के सहायकों और पोलिंग एजेंट के नाश्ते और चाय का खर्चा तय कर दिया है। प्रत्याशी के दो सहायकों को नाश्ता करने में 120 रुपये और दो बार चाय के लिए 20-20 रुपये तय किए हैं। बूथ के अंदर रहने वाले पोलिंग एजेंट का भी यही खर्चा जोड़ा जाएगा। चाय -नाश्ते के अलावा भोजन पर निर्वाचन आयोग ने 100 रुपये का खर्चा तय किया है। इसके अलावा पार्टियों के बस्ते में मेज, कुर्सी का रेट भी तय कर दिया गया है।  यह सभी खर्चे प्रत्याशी के चुनावी खर्चे में जोड़े जाएंगे।

LEAVE A REPLY